Breaking News
Home / मनोरंजन / सिर्फ तीसरी पास करने वाले इस शख़्स पर कई छात्रों ने की है पीएचडी, पद्मश्री से हो चुके है सम्मानित

सिर्फ तीसरी पास करने वाले इस शख़्स पर कई छात्रों ने की है पीएचडी, पद्मश्री से हो चुके है सम्मानित

तीसरे कक्षा तक पढ़ाई छोड़ने वाले 66 साल के हलधर नाग कोशली भाषा के कवि हैं जानकारी के लिए बता दे की पश्चिमी ओडिशा में बोली जाने वाली भाषा है और जब वह कवि सम्‍मेलनों में अपनी लिखी कविताएं सुनाते हैं तो लोग उन्हें बड़े गौर के साथ सुनने है हलधर नाग जी को श्‍च‍िम बंगाल, आंध्र प्रदेश और छत्‍तीसगढ़ के यूनिवर्सिटीज में भी अपनी कविताएं सुनाने के लिए बुलाया जाता है।

उन्होंने 20 काव्‍य और कई कविताओं की रचना की है और उनकी कविताओं का पहला संग्रह ग्रंथाबलि-1 कटक के फ्रेंड्स पब्‍ल‍िशर ने प्रकाशित किया था।ये भी बता दे की लोकप्रिय कवि, गीतकार और फिल्मकार ‘गुलजार’ जी की की किताब ‘ए पोयम ए डे’ में भारतीय कविताओं का कलेक्शन है और उनके इस कोसलि के कवि पद्मश्री हलधर नाग की कविता को अपने पहले पेज पर जगह देकर उनका सम्मान और बढ़ा दिया और इसे ये भी पता चलता है की नाग कितने दिग्गज कवी है।

 

हलधर एक गरीब परिवार से है और जब वे 10 साल के थे तभी उनके पिता का निधन हो गए थे, तब से हलधर का संघर्ष शुरू हो गया और तीसरी कक्षा के बाद स्कूल छोड़ना पड़ा। घर की विकट परिस्थिति के चलते उन्हें मिठाई की दुकान में बर्तन धोने पड़े।शुरू में उन्होंने पास ही के एक स्कूल में खाना पकाने शुरू किया जहा पर उन्होंने 16 साल तक काम किया।

इस ही दौरान साल 1990 में उन्होंने अपनी पहली कविता “धोधो बारगाजी” नाम से लिखी जिसे वही के एक पत्रिका ने छापा था और उसके बाद हलधर की सभी कविताओं को पत्रिका में जगहमिलने लगी थी और आस-पास के गाँवों से भी कविता सुनाने के लिए बुलाए जाने लगे।

लोगों को उनकी कविताएँ इतनी पसंद आई कि वो उन्हें “लोक कविरत्न” के नाम से बुलाने लगे।वह समाज, धर्म, मान्यताओं और परिवर्तन जैसी बातो पर लिखते हैं उनके अनुसार की कविताए समाज के लोगों तक सन्देश पहुँचाने का सबसे अच्छा तरीका है।

सम्बलपुर विश्वविद्यालय में अब उनकी रचनाओं का संग्रह ‘हलधर ग्रंथावली-2’ को पाठ्यक्रम में शामिल कर लिया गया है।उनका कहाँ है की “मुझे सम्मानित किया गया और इसने मुझे और लिखने के लिए प्रोत्साहित किया। मैंने अपनी कविताओं को सुनाने के लिए आस-पास के गांवों का दौरा करना शुरू कर दिया और मुझे सभी लोगों से बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली”

About wpadmin