Breaking News
Home / खबरे / फिर मसीहा बनकर सामने आए सोनू सूद, चमोली हादसे में जान गंवाने वाले की 4 बेटियों का सहारा बने

फिर मसीहा बनकर सामने आए सोनू सूद, चमोली हादसे में जान गंवाने वाले की 4 बेटियों का सहारा बने

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद अपनी फिल्मो के साथ साथ अपने अच्छे काम के लिए भी जाने जाते है लॉक डाउन के दौरान उन्होंने हजारो लोगो की मदद की थी जिसके बाद सोशल मीडिया पर सोनू सूद की काफी चर्चा हुई बता दे की लॉक डाउन के बाद भी सोनू सोशल मीडिया के जरिये लोग की मदद कर रहे थे और अब उन्होंने चार अनाथ बेटियों की पढ़ाई का खर्च उठाने जैसा बड़ा और महत्वपूर्ण कार्य किया है।

गरीब और असहाय लोगों की मदद करना वाले बॉलीवुड अब उनकी दिनचर्या में शामिल हो गया है उन्होंने चमोली आपदा में अनाथ हुई 4 बच्चियों के लिए सोनू सूद ने मदद का हाथ बढ़ाया है उन्होंने इन चारो बच्चियों को गोद लेकर उनके सभी खर्चो का उठाने की जिम्मेदारी ली है।वैसे बता दे की कुछ दिनों पहले उत्तराखंड के चमोली जिले में आई आपदा से कई लोग बेघर हो गए हैं. कई लोगों को अपनी जान गंवानी पडी है।

इस हादसे में एक परिवार की 4 बच्चियों के पिता ने भी डैम तोड़ दिया है उनके परिवार की हालत काफी खरब थी पर इस ही बीच ‘मसीहा’ के नाम से जाने जाने वाले सोनू सूद मदद के लिए आगे आए और उन्होंने इस दुख की घड़ी में सहारा बने है और आगे भी बने रहेंगे।जब ट्वीट पर एक यूजर ने सोनू को टैग करते हुए लिखा “मेरे निवेदन पर मेरे दोस्त, मेरे भाई @SonuSood ने उत्तराखंड आपदा में मारे गए स्वर्गीय आलम पुण्डीर की अनाथ 4 बेटियों को पाँच साल तक पढ़ाने की पूरी जिम्मेदारी उठायी. आभार मेरे भाई.” इसके जवाब में सोनू सूद ने लिखा कि, ‘यह परिवार अब हमारा है भाई”

खबरों के अनुसार इन बच्चियों के पिता का नाम आलम सिंह जल विद्युत परियोजना से जुड़ी एक कंपनी में इलेक्ट्रीशियन के तौर पर कार्यरत थे और इस हादसे से समय वो टनल के अंदर ही काम कर रहे थे और इस हादसे में वो बच नहीं पाए उनका शव इस हादसे के करीब 8 दिन बाद मिला था।जानकारी के लिए बता दे की अब तक इस टनल में 63 शव बरामद हो चुके हैं साथ ही अभी तक इस में कितने लोगो की मौत हुई है अभी तक इस बात की पुष्टि भी नहीं हुई है।

About wpadmin