Breaking News
Home / मनोरंजन / 53 साल की उम्र में मां ने की 10वीं पास, ऐसा रिजल्ट अब बेटा दिखा रहा मार्कशीट

53 साल की उम्र में मां ने की 10वीं पास, ऐसा रिजल्ट अब बेटा दिखा रहा मार्कशीट

वो कहते हैना पढाई करने की कोई उम्र नहीं होती है पड़े किसी भी उम्र में इंशान कर सकता है माता-पिता भी किसी भी उम्र में अपनी पड़े को पूरा कर सकते है अगर एक बार सोच ले तो ऐसा में सोशल मीडिया पर एक महिला की मार्कशीट की तस्वीर खूब वायरल हो रही है जो की एक एक माँ की है जिसने 53 साल की उम्र में पढ़ाई करनी शुरू की है उस महिला ने 37 साल पहले स्कूल छोड़ा था और अब 53 की उम्र में 10वीं पास की. है आइये जानते है की वो महिला कौन है।

खबरों के अनुसार हमको यह जानकरी हासिल हुई है मास्टरकार्ड में सीनियर सॉफ़्टवेयर इंजीनियर, प्रसाद जम्भाले जिन्होंने अपनी माँ के बारें में बात करते हुआ बतया है की अब उनकी माँ को सेकेंडरी स्कूल सर्टिफ़िकेट मिल गया है उस महिला का नाम कल्पना है जिसने यहाँ साबित कर दिया है की इंशान की उम्र से कुछ भी फर्क नहीं पड़ता है मेहनत करने वाला इंशान अपनी ज़िन्दगी में कुछ भी कर सकता है।

कल्पना ने बतया की जब उनकी उम्र सिर्फ 16 साल थी तब उनकी माँ और बाप दोनों का निधन हो गया था जिसकी वजह उन्होंने अपने भाई-बहनों को पढ़ाने के लिए स्कूल की पढ़ाई छोड़ दी और नौकरी करनी शुरू कर दी थी और अभी कुछ वक़्त पहले जब वो एक स्कूल में गई थी एक टीचर ने बताया कि एक सरकारी स्कीम के तहत वे अपनी SSC (10वीं) की परीक्षा दोबारा दे सकती हैं. ऑफ़लाइन, ऑनलाइन ट्रेनिंग, किताबें आदि सभी का खर्चा सरकार ही उठाएगी।

 

उसके बाद में कल्पना ने पढ़ाई करना शुरू कर दिया था उन्होंने अपने बेटे को भी नहीं बतया था बेटे प्रसाद को ये बात बहुत बाद में पता चली. वे आयरलैंड में रहते हैं और उनकी शादी के ठीक बाद कल्पना की परिक्षाएं होने वाली थी. प्रसाद ने आगे लिखा कि जब भी वो रात में फ़ोन करते और मां के बारे में पूछते तो उन्हें यही बताया जाता कि मां इवनिंग वॉक पर गई हैं. उनके बेटे ने बतया की हमको एक घर में रहने के बाद में भी एक महीने तक इस बात की जानकरी नहीं हुई थी की उन्होंने स्कूल जाना शुरू कर दिया है कल्पना ने न सिर्फ़ 10वीं पास की बल्कि 79.60 प्रतिशत अंक भी हासिल किये है।

About wpadmin