Breaking News
Home / मनोरंजन / जानिए त्रिपुरा के ‘उनाकोटी’ का रहस्य, जहां के जंगलों में मौजूद हैं 99 लाख 99 हज़ार 999 मूर्तियां

जानिए त्रिपुरा के ‘उनाकोटी’ का रहस्य, जहां के जंगलों में मौजूद हैं 99 लाख 99 हज़ार 999 मूर्तियां

आज हम आपको भारत के नार्थ ईस्ट के कुछ सेहेरो के बारें में बताने जा रहे ही जो की बहूत ही खूबसूरत है सबसे पहले आता है त्रिपुरा जो की एक बहुत ही खूबसूरत इलाका है वह पर आपको प्राकृतिक ख़ूबसूरती देखने को मिलेगी इस सेहर में कही ऐतिहासिक जगह भी देखने को मिलेगी आपको उन जगहों में से एक जगह है उनाकोटी जो की एक रहस्यमाहे जगह है काफी चर्चित जगह है ‘उनाकोटी’ के ऐसा क्या खास है

तो आपको बता दे की ‘उनाकोटी’ त्रिपुरा की राजधानी अगरतला से काफी दूर है वो करीब 145 किलोमीटर दूर है उनाकोटी हमारे देश की काफी मशहूर जगह है इस जगह की खासियत यह है की इस जगह के जंगलों में चट्टानों पर हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियां देखने को मिलेगी आपको इस जगह बहुत साडी मूर्तियां है यहाँ पर हज़ारो में नहीं बल्कि 99 लाख 99 हज़ार 999 मूर्तियां है

उनाकोटी में भगवान शिव और गणेश की ये 99 लाख 99 हज़ार 999 मूर्तियां जिसका रहस्य आज तक कोई नहीं समज पाया है मगर इन मूर्तियों की जिक्र एतिहास में नहीं किया गया है ये मुर्तिया सिर्फ पुराणों पर आधारित हैं। और ‘उनाकोटी’ में कुछ ऐसे भी रास्ते है जिनका रहस्य आज तक कोई नहीं समज पाया है


उनाकोटी में भगवन ‘कालभैरव’ की भी बड़ी मुर्तिया है जो की बहुत ही विशाल है इसकी ऊंचाई क़रीब 30 फ़ीट है. जिसको देख कर सभी लोग बहुत हैरान हो जाते है और आपको बता दे की उनाकोटी में कही दूर दूर तक इन्शान नहीं रहते है वह पर बस जंगल है और वह कही बड़ी और छोटी मूर्तियां है मगर आज तक कोई यह पता नहीं लगा पाया की इतनी सुन सन जगह पर इतनी साडी मूर्तियां केसा है यह आज तक कोई पता नहीं लगा पाया और किसने बनवाई होगी यह मूर्तियां इसका जवाब तो हमको आज तक नहीं मिला है

आपको बता दे की कहानी को मुताबिक तो यह मूर्तियां ‘कालू’ नाम के एक शिल्पकार ने बनाई थीं और ऐसा भी कहा जाता है की जब वो भगवान शिव के साथ कैलाश जाने की जिद करने लगा तो शिव जी के कई बार मना करने के बाद भी वो नहीं माना. उसके बाद शिव जी ने उनके आगे एक शर्त रखी थी ‘अगर तुम एक रात में 1 करोड़ मूर्तियां बना दोगे तो मैं तुम्हें अपने साथ कैलाश लेकर जाऊंगा’. ‘कालू’ ने उनकी बात को मान लिया था और रातभर में इतनी मूर्तियां बहना ली थी मगर जब उनकी गिनती की तो एक मूर्ति काम थी जिसकी वजह से वो भगवान शिव के साथ कैलाश नहीं जा पाया.था

About wpadmin