Breaking News
Home / खबरे / बचपन में छोड़ गई माँ फिर टीम इंडिया में ले गई बहन, आज है भारतीय टीम के ऑलराउंडर

बचपन में छोड़ गई माँ फिर टीम इंडिया में ले गई बहन, आज है भारतीय टीम के ऑलराउंडर

आज हम आपसे टीम इंडिया के एक ऐसा खिलाडी के बारें में बात करने जा रहे है जिन्होंने अपनी  मेहनत  के दम पर पुरे देश में एक बहुत ही ख़ास पेहचान बनाई है जीवन में उन्होंने कई कठिनाइयों का भी सामना किया है मगर उसके बाद में भी उन्होंने कभी भी हर नहीं मानी थी रविंद्र जडेजा आज जिस मुकाम पर है उन्होंने वो मुकाम बहुत ही मुश्किल से हासिल किया है क्यों की उन्होंने बहुत ही काम उम्र में अपनी माँ को खो दया था जिसके बाद में उनका जीवन काफी ज़्यदा मुश्किल भी हो गया था।

आपको बता दे की जब रवींद्र जडेजा की उम्र सिर्फ 17 साल थी तब उन्होंने अपनी माँ को खोया था जिसके बाद में उनकी बड़ी बहन ने घर संभाला लिया था जडेजा का जन्म 6 दिसंबर 1988 को गुजराती राजपूत परिवार में हुआ. उनकी मां लता की 2005 में एक दुर्घटना में मृत्यु हो गई. जडेजा की मां उन्हें क्रिकेटर बनाना चाहती थी खिलाडी ने तब क्रिकेट खेलना छोड़ दिया, क्योंकि वह अपनी मां की मृत्यु से बहुत दुखी थे उनके पिता एक प्राइवेट कंपनी में गार्ड की नौकरी करते थे और घर कि माली हालत भी उतनी अच्छी नहीं थी।

माँ की मौत के बाद में खिलाडी ने क्रिकेट खेलना छोड़ दिया, क्योंकि वह अपनी मां की मृत्यु से बहुत दुखी थे रवींद्र जडेजा की मां का निधन हो जाने के बाद उनकी बड़ी बहन नैना ने उनको सहारा दिया और परिवार को भी संभाला. जिसके बाद जडेजा ने फिर से क्रिकेट खेलना शुरू किया. रवींद्र जडेजा क्रिकेट के मैदान पर अपने बड़े-बड़े कारनामों के लिए जाने जाते हैंरवींद्र जड़ेजा भले हीं इन दिनों टीम इंडिया का हिस्सा नहीं है, क्योंकि वो घुटने की चोट के चलते टीम से बाहर हो गए हैं।

About wpadmin