Breaking News
Home / खबरे / कंगना रनौत पर फिर से बरसे ‘शक्तिमान’, बोले -‘लकड़ी के घोड़े पर बैठकर खुद को झांसी की रानी बोलने वाली..’

कंगना रनौत पर फिर से बरसे ‘शक्तिमान’, बोले -‘लकड़ी के घोड़े पर बैठकर खुद को झांसी की रानी बोलने वाली..’

जैसा की आपको पता ही होगा बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत जो आये दिन अपने दिए गए बयानों की वजह से विवादों में भनी रहती है हाल ही में हुआ एक इंटरव्यू में उन्होंने बोला था की 1947 में हमको जो आजादी हमको मिली थी थी वो भीख की आजादी थी उसके बाद हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कृषि कानून वापस लेने की बात करी थी तब भी एक्टर्स ने काफी कुछ बोला था पहले से ही बहुत हंगामा चल रहा था उनकी भीख की आजादी वाली बात पर और फिर उन्होंने पंगा ले लिया देश कही नेता ने भी उनके खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है और मशहूर बॉलीवुड एक्टर मुकेश खन्ना को भी एक्ट्रेस कंगना रनौत पर बहुत गुस्सा आया हुआ है

आपको बता दे की हाल ही में मुकेश खन्ना ने कॉमेडियन वीर दास के वीडियो पर भी बहुत गुस्सा किया था जिस वीडियो में वीर दास ने बोला था की भारत के दो पहलुओं उस बात पर भी उन्होंने खूब गुस्सा किया था आपको बता दे की पूरा मामला हुआ क्या था दरसल अमेरिका के वाशिंगटन डीसी में जॉन एफ कैनेडी सेंटर में वीर दास ने कुछ ऐसा बोला था जिसकी वजह से मुकेश खन्ना को बहुत गुस्सा आ गया था उन्होंने वीर दास को खूब खरी-खोटी सुनाई थी मुकेश खन्ना ने अपने वीडियो में बोला था की ‘कई लोगों ने मुझसे कहा कि सर आप वीर दास के खिलाफ तो बहुत बोलते हैं, लेकिन किसी और के खिलाफ नहीं बोलते, मैं समझ गया था कि इशारा कहा है, लेकिन वीर दास ने अमेरिका में जाकर अपने ग्रेट देश की धज्जियां उड़ाई हैं।

मुकेश खन्ना ने आगे वीडियो में कहा था की ‘लोगों ने कमेंट करके कहा कि वीर दास के साथ भी कई कमेंट आए थे, लेकिन आपने इस बारे में बात नहीं की।’उसका जब देता हुआ मुकेश खन्ना ने बोला की ‘मेरी एक बुरी आदत हैं, मैं किसी लेडी के कमेंट के ऊपर कमेंट नहीं करता। मैं मर्द से लड़ सकता हूं, लेकिन लेडी से मुझे लड़ना अच्छा नहीं लगता, लेकिन जब लोगों ने मुझे गलत समझना शुरू किया और कहने लगे कि आप इसलिए कुछ नहीं बोले रहे कि आप भी उसी पार्टी को सपोर्ट करते हैं और आपको लगता है कि टिकट मिल जाएगी। उसके बाद एक्टर ने बोला की जो भी देश के खिलाफ जायेगा में उससे लड़ाई करूंगा

आपको बता दे की मुकेश खन्ना ने कंगना की भीख वाली बात पर कहा था की ‘ये कहना कहां तक ठीक है कि आजादी हमें भीख में मिली। उनका ये बयान चापलूसी से प्रेरित है, हास्या पद है, चापलूसी से प्रेरित है और पद्मा अवॉर्ड का साइड इफेक्ट है। मुझे लगा कि आपका ये कहना की आजादी 1947 में आजादी नहीं मिली थी और 2014 में मिली यह कहना ही मूर्खता से भरी हुई बात है। अगर आपका कहना है कि वो 1947 में मिली आजादी, आजादी नहीं थी तो क्या 60 साल हमने गुलामी में जिया। वहीं भीख के जवाब में उन्होंने कहा कि चंद्रशेखर आजाद, सुभाष चंद्र बोस, भगत सिंह जैसे क्रांतिकारियों का अंग्रेजों क डराने में बहुत बड़ा योगदान है। सैकड़ों क्रांतिकारियों की आजादी में अहम भूमिका रही है। आपके पास ऐसा बोलने का अधिकार नहीं है”

उसके बाद वीडियो शेयर करते हुआ अपने कैप्शन में लिखा था की Youtubeपर अपने चैनल भीष्म इंटरनेशनल में वीर दास पर अपना गुस्सा जाहिर करने बाद कई लोग मुझ पर बरस पड़े कि आपने इनके बारे में तो बोला पर उस दूसरे शख्स के कमेंट पर कि आजादी हमें भीख में मिली उस पर आपने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। क्यों ? क्या आप भी उस पार्टी से जुड़े हुए हैं! जिसकी चापलूसी हो रही है। तो मुझे लगा कि मुझे अपना पक्ष सामने लाना अत्यंत आवश्यक हो गया है। अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर तो मैं बोल गया। पर कैमरा के सामने अभी तक नहीं बोला।इसलिए मैंने अपने चैनल पर एक वीडियो रिकॉर्ड की। उस वीडियो को मैं आप लोगों के साथ शेयर कर रहा हूं। उसके आगे मुकेश खन्ना ने बोला की ‘उसमें मैं जो कुछ बोला उसका सारांश ये ही है कि ये मोहतरमा तो वीर दास से दस कदम आगे बढ़ गईं है। देश का अपमान करने के मामले में। खुद को झांसी की रानी कहलाना पसंद करती हैं। लकड़ी की काठी, काठी का घोड़ा पर बैठ कर मणिकर्णिका फिल्म करती हैं। और यही मणिकर्णिका उन असंख्य क्रांतिकारियों का अपमान कर रही है, जिन्होंने अपनी मातृभूमि को स्वतंत्र कराने में अपने प्राण तक न्योछावर कर दिए ! लानत है ऐसे शख्स पर !! क्या ऐसे लोगों को पद्म अवॉर्ड मिलना चाहिए ? मेरे हिसाब से ये पद्म अवॉर्ड का अपमान है !!!

About wpadmin