Breaking News
Home / मनोरंजन / केवल एक रात के लिए ही शादी करते हैं किन्नर, जानिए इसके पीछे का रहस्य

केवल एक रात के लिए ही शादी करते हैं किन्नर, जानिए इसके पीछे का रहस्य

किन्नर जिनके बारे में हम बहुत हिकम जानते है किन्नर समाज की ऐसी कई चीजे है जिनके बारे में हम नहीं जानते है अक्सर किन्नरों को शादी विवाह किसी बच्चे के जन्मदिन के अवसर पर देखा जाता है इसके साथ ही हमारे धर्म ग्रंथों में किन्नरों को काफी सम्मान दिया जाता है पर इन सब के बाद भी हम इनके बारे में बहुत ही कम जानते है जैसे की क्या आप जानते है की ये भी किन्नर भी शादी करते हैं।

वैसे बता दे की किन्नरों की शादी आम लोगों से बिल्कुल अलग होती है.आपको बता दें किन्नरों का विवाह केवल एक रात का ही विवाह होता है.और केवल एक रात के लिए ही ये सुहागन से विधवा बन जाती हैं और उनमे अपने भगवान से होता है ये लोग सिर्फ एक रात के लिए ही अपने भगवान से विवाह करते हैं और अगले दिन विधवा बन जाते हैं और फिर विलाप करते हैं।

किन्नरों में भगवन अर्जुन और नाग कन्या उलूपि की संतान इरावन जिन्हें अरावन के नाम से भी जाना जाता है और मंदिर के पुजारी इनको मंगलसूत्र पहनाते है वैसे अगर आपको किन्नरों का विवाह उत्सव देखनेहै तो आपको उसके लिए तमिलनाडु जाना होगा बता दे की तमिल नववर्ष की पहली पूर्णमासी को किन्नरों के विवाह का उत्सव शुरू होता है जो 18 दिनों तक चलता है और 17 वे दिन यह अपने भगवान इरावन के साथ बिया रचाते हैं।

अगले दिन सारा श्रृंगार उतार कर विधवा की भांति विलाप करते हैं. आपको बता दें किन्नरों के विवाह के बाद जशन मनाया जाता है और इनके भगवान इरावन को पूरे शहर में घुमाया जाता है सब कुछ खत्म होने के बाद भगवान की मूर्ति को तोड़ दिया जाता है और फिर किन्नर एक विधवा की तरह सारा श्रृंगार उतार देते हैं और सभी विधवा की तरह विलाप करते हैं।

About wpadmin