Breaking News
Home / खबरे / बंदर की निधन पर भोज, 5 हजार लोगों ने खाया खाना, 50 KM दूर के गांवों से भी आए लोग

बंदर की निधन पर भोज, 5 हजार लोगों ने खाया खाना, 50 KM दूर के गांवों से भी आए लोग

आये दिन सोशल मीडिया पर अजीब मामला सामने आते रहते है जो की वायरल भी हो जाते है तो हम आपके सामने एक बहुत ही वायरल किस्सा लेकर आये है जो की मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के खिलचीपुर के गांव डालूपुरा का है जहा पर इस सोमवार को बंदर की मौत के लिए भोजन का न्योता कार्ड छपवाकर लोगों को दिया गया था जिसमे शमिल होने के लिए दूर दूर के गांव के लोग आये थे अब आप यह सोच रहे होंगे की हुआ क्या था तो बता दे की एक बंदर सुबह जंगल की ओर से गांव में आ गया था। वो गांव में खेलता रहता था मगर ठंड की वजह से उसकी मौत हो जाती है

उसके बाद में उस बंदर को लेकर गांव वाले हनुमान मंदिर गाये और वह पर बंदर का नारियल रखकर बंदर को नमन किया गया ऋतिजीवाजो के साथ में उसका अंतिमसंस्कार किया गया था पुरुष अंदर को लेकर आगे चलते गाये और महिला भजन गाती हुई मुक्तिधाम तक गईं इस बात की पूरी जानकरी हमको बिरम सिंह चौहान ने दी उन्होंने हमको बतया की हम लोगो ने विधि-विधान से बंदर का अंतिम संस्कार किया है

आपको बता दे की इस मृत्यू भोज में करीब 50 से ज्यादा लोग पहुंचे हुए थे। जिसमें 11 हज़ार से लोगों ने बंदर के निधन पर शोक जताते हुए उसकी अंतिम क्रिया की महाभंडारे की प्रसादी ग्रहण की। हरि सिंह का यह कहना था की उन्होंने बंदर की मौत पर मुंडन भी करवायाहै और उनके परिवार के सदस्य की तरह ग्यारहवीं का कार्यक्रम संपन्न किया।गांव के लोगो का यह कहना था की कि बंदर हनुमानजी का ही रूप हैं। इसलिए चंदा एकत्रित कर भोज रख गया था और गांव के लोगो को बहुत दुःख भी हुआ था बंदर की मौत का

About wpadmin