Breaking News
Home / मनोरंजन / करीब ढाई साल बाद PAK से भारत पहुंची देश की बेटी ,ससुराल वालों ने किया ऐसा स्वागत

करीब ढाई साल बाद PAK से भारत पहुंची देश की बेटी ,ससुराल वालों ने किया ऐसा स्वागत

आज हम आपको 2 देशों के खरब रिश्तो के बीच एक ऐसी दुल्हन की कहानी के बारे में बताने वाले है जो अपने ससुराल नहीं आ पाई थी ये कहानी पाकिस्तान में फंसी दुल्हन की है जो हिंदुस्तान नहीं आ पाई थी और अब सालो बाद अपनी ससुराल में आने का मौका मिला है।

ये मामला बालाकोट में हुई स्ट्राइक का कहा, दोनों देशों के बीच रिश्ते बिगड़ गए थे जिसके चलते थार एक्सप्रेस बंद हो गई थी और लोग यहाँ से वह नहीं जा प् रहे थे वही राजस्थान के जैसलमेर के रहने वाले विक्रम सिंह की शादी पाकिस्तान के अमरकोट में हुई थी, पर दुल्हन कभी अपनी ससुराल यानी भारत नहीं आ पाई और काफी कोशिशों के बाद करीब ढाई साल बाद वह अपने ससुराल जैसलमेर वापस आई है।

विक्रम के परिवार वालों का काफी खुश है उन्होंने विक्रम और उसकी पत्नी का जोरो शोरो से स्वागत किया है, बताते चले की जैसलमेर और अमरकोट का रिश्ता पुराना हैँ,कई बेटों की शादी वहां हुई तो कई बेटियों की शादी कहां हुई है और विक्रम सिंह की शादी जनवरी 2019 में हुई थी पर परिवार वाले अपनी बहू को लाने के कई प्रयास कर चुके थे अब जाकर उन्हें सफलता हासिल हुई, ने बताया कि शादी के बाद से सभी घरवाले और वह अपनी पत्नी के इंतजार में थे।

3 महीने तक पत्नी को लाने की लेकिन वह असफल रहे और वापस जैसलमेर आ गए पर उन्होंने हर नहीं मानी और लगातार कोशिशें जारी रखी, उन्होंने कई बार सरकार से भी गुहार लगाई पर उसका कोई फायदा नहीं हुआ विक्रम ने बताया ‘केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने उम्मीद जगाई इसी बीच 2021 में एक मेरे पुत्र का जन्म हो जाता है जो अपने नाना नानी के साथ यहां पर आ गया लेकिन मेरी पत्नी का पासपोर्ट ब्लैक लिस्टेड कर दिया गया’

वही बीजेपी के जिला महामंत्री स्वरूप सिंह खसरा में बताया कि विक्रम की पत्नी को भारत लाने के लिए वह कड़ा संघर्ष करना, हमारे सांसद कैलाश चौधरी की मेहनत रंग लाई और उनकी पत्नी हिंदुस्तान आने में सफल रही,आज भी कई लोग भारत और पाकिस्तान के बीच फंसे हुए हैं और मदद का इंतजार कर रहे है।

About wpadmin