Breaking News
Home / खबरे / पैसे के बिना IIT स्टूडेंट को नहीं मिल पा रहा था एडमिशन, जज ने खुद फीस देकर पेश की मिसाल

पैसे के बिना IIT स्टूडेंट को नहीं मिल पा रहा था एडमिशन, जज ने खुद फीस देकर पेश की मिसाल

ऐसे कई लोग होते है जो पढ़ लिखकर अपनी ज़िन्दगी में कुछ बनना चाहते है पर हालातो के चलते वह अपनी पढाई पूरी नहीं कर पाते है, वही यूपी के लखनऊ में हाईकोर्ट बेंच के जज दिनेश कुमार सिंह ने एक ऐसे छात्र की मदद करते हुए बेहतरीन मिसाल पेश की जब एक छात्र के पास बीएचयू आईआईटी में एडमिशन के लिए पैसे नहीं थे जब जज दिनेश कुमार को इस बारे में पता चला तब उन्होंने तुंरत अपनी जेब से 15 हजार रुपये दिए।

मिली जानकारी के अनुसार छात्रा संस्कृति रंजन ने लखनऊ की हाईकोर्ट बेंच में याचिका दायर की थी. इसमें आईआईटी बीएचयू में एडमिशन के लिए फीस भरने के लिए पैसे नहीं थे और समय पर फीस नहीं भरने की वजह से वह एडमिशन से वंचित रह गई थी।

उसका कहना है की जॉइंट सीट एलोकेशन अथॉरिटी को कई बार लेटर्स लिखकर पैसे न होने की बात कही थी पर अथॉरिटी ने कोई जवाब नहीं दिया और इसपर सुनवाई करते हुए जज दिनेश कुमार ने छात्रा की पढ़ाई का रिकॉर्ड देखा।

आपको बताते चले की छात्रा के 10वीं में 95.6% तो वही 12वीं में 94% मार्क्स आए थे छात्रा के पिता ने कहा कि उसके पिता की किडनी खराब हो गई और उनका ट्रांसप्लांट भी होना है. जज ने आदेश देते हुए कहा कि तीन दिन में उसे एडमिशन दिया जाए।

About wpadmin