Breaking News
Home / खबरे / किसानों ने रोका था PM मोदी का काफिला, किसान नेता ने बताया आखिर कैसे और क्यों घटी पूरी घटना

किसानों ने रोका था PM मोदी का काफिला, किसान नेता ने बताया आखिर कैसे और क्यों घटी पूरी घटना

बड़ी खबर भारतीय किसान संघ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काफिले को और उनके कार्यकर्ताओं को रोक दिया जब हमारी बात प्रमुख सुरजीत सिंह फूल से हुई थी तब उन्होंने हमको बतया की 12-13 किसान संगठनों ने विरोध करने का फैसला किया था क्योंकि सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर कोई समिति नहीं बनाई थी उन्होंने हमको यह भी बतया था की किसान वह से 8 किलोमीटर दुरी पर विरोध कर रहे थे जहा पर पीएम मोदी को रैली निकलने वाले थे

खबरों के अनुसार हमको यह भी मालूम हुआ है की पीएम के काफिले में अंतिम मिनट में मार्ग परिवर्तन हुआ जिसके परिणामस्वरूप ये घटना हुई।उनका ऐसा भी कहना था की पंजाब से 12 या 13 संगठन थे जिन्होंने विरोध करने का फैसला किया था और विरोध का कारण यह बतया जा रहा था की सरकार के आश्वासन के बावजूद एमएसपी पर कोई समिति नहीं बनाई गई है और सरकार तीन कृषि कानूनों के लिए विरोध कर रहे किसानो की जान गई थी उनका मुआवजा नहीं दिया जा रहा है जिसकी वजह से वो वह पर विरोध कर रहे थे

आपको बता दे की इस बात के खिलाफ गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी लखीमपुर खीरी मामले में कोई कार्रवाई भी नहीं कर रहे है और उन लोगो को यह बात कल 2 बजे मालूम हुई थी की पीएम बठिंडा से सड़क मार्ग से आ रहे हैं। रैली के पास एक बड़ा हेलीपैड था। पुलिस ने कहा कि वह सड़क मार्ग से आ रहे हैं तो हमने सोचा कि पुलिस झूठ बोल रही है और पीएम हवाई मार्ग से आ रहे होंगे। इसलिए हमने रास्ता नहीं छोड़ा। हमने कहा कि आप झूठ बोल रहे हैं। उसके बाद में उन्होंने कहा की पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे किसानों को रोकने की कोशिश की, लेकिन पुलिस और किसानों की संख्या बराबर थी। हमने सड़क नहीं छोड़ी। हमें नहीं पता कि उनका कार्यक्रम कैसे बदला गया। अगर हमें यकीन होता कि वह सड़क से आ रहे हैं तो हम सड़क खाली कर देते।

आगे उन्होंने यह बात भी बोली की यह एक भ्रम था उसके बाद में बीकेयू क्रांतिकारी सदस्य ने इस बात का साल किया की घटना के लिए माफी मांगेंगे जिसके परिणामस्वरूप सुरक्षा में बड़ी चूक हुई, उसका जवाब देते हुआ फूल ने कहा कि माफी मांगने का कोई सवाल ही नहीं है क्योंकि विरोध करना उनका ‘लोकतांत्रिक अधिकार’ है। क्या हम विरोध नहीं कर सकते? यह हमारा लोकतांत्रिक अधिकार है। हमने जो भी किया है, सही किया है बता दे की इस घटना के ऊपर कही सवाल भी खड़े हो रहे है की क्या यह सब कुछ जनकरके हुआ है

About wpadmin